आपका कार्ट  

No products

Shipping INR 0.00
Total INR 0.00

Check out

सनातनकी ग्रंथसंपदा


Other Websites Sanatan Sanstha Hindu Janjagruti Samiti Balsanskar Spiritual University

Subscribe to Newsletter

Receive updates on upcoming Granths and special offers right in your inbox!


Subscribe      Visit Group

श्री गणपति (सार्थ अथर्वशीर्ष एवं संकटनाशनस्तोत्र सहित)

श्री गणपति (सार्थ अथर्वशीर्ष एवं संकटनाशनस्तोत्र सहित)

INR 9.00


INR 8.00

Available in stock

अन्य भाषाएं :मराठी, कन्नड
श्री गणपति विद्याके देवता तथा विघ्नहर्ता हैं, इसलिए उनकी आराधना सर्वत्र की जाती है । गणेशस्तोत्रपाठसे स्मरणशक्ति बढती है एवं शरीरके सर्व ओर सूक्ष्म सुरक्षा-कवच निर्मित होता है । स्तोत्र संस्कृत भाषामें होनेके कारण उच्चारणमें भी सुधार होता है । इस लघुग्रंथमें श्लोंकोंके अतिरिक्त श्री गणपतिकी आध्यात्मिक जानकारी, प्रमुख विशेषताएं, गणेशमूर्तिकी कुछ विशेषताओंका भावार्थ, गणपतिकी उपासना एवं स्तोत्रकी भी संक्षिप्त जानकारी दी गई है । संकष्टनाशनस्तोत्रके अंतमें इसमें दिए गए गणपतिके १२ नामोंका भावार्थ भी दिया गया है । इसलिए प्रतिदिन अर्थ ध्यानमें रख गणेशस्तोत्रका भावपूर्ण पाठ करें तथा बच्चोंसे भी करवाएं !









ISBN No :978-93-81342-92-3
पृष्ठसंख्या :४४
प्रकाशित प्रतियां :दिसंबर २०१२ तक प्रस्तुत ग्रंथकी २ भाषाओंमें १,०७,००० से अधिक प्रतियां !
संकलक :प.पू. डॉ. जयंत बाळाजी आठवले एवं श्री. हेमंत भास्कर रानडे

इस ग्रंथमालाके अन्य ग्रंथ

  • श्रीरामरक्षास्तोत्र व हनुमानचालीसा : भाग १

  • श्री हनुमान : खंड १

  • शिव (अध्यात्मशास्त्रीय जानकारी,  आरती व शिव चालीसा)

  •  शक्ति (अध्यात्मशास्त्रीय जानकारी)