Reduced price! प्राणशक्ति (चेतना) प्रणालीमें अवरोधोंके कारण होनेवाले विकारोंपर उपचार View larger

प्राणशक्ति (चेतना) प्रणालीमें अवरोधोंके कारण उत्पन्न विकारोंके उपचार

New product

Prannshakti (Chetana) pranalime avarodhonke karan honevale vikaronpar upchar - Hindi

More details

11 Items

INR 108.00

-INR 12.00

INR 120.00

INR 108.00 per 1

Add to wishlist

Data sheet

Compilers :परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवले
Number Of Pages100
ISBN Number978-93-87508-47-7

More info

प्राणशक्ति (चेतना) मनुष्यके लिए जीवनदायिनी शक्ति है । मनुष्यके विकार दूर करनेके लिए पिरैमिड, रेकी जैसी चलित उपचार- पद्धतियोंमें भी प्राणशक्तिका उपयोग किया जाता है । इस ग्रन्थमें भी प्राणशक्तिका विशेष कारसे उपयोग कर विकार दूर करनेका शास्त्र बताया गया है । इस उपचार-पद्धतिके महत्त्वपूर्ण घटक हैं, हाथकी उंगलियोंसे बनी मुद्रा और नामजप । मुद्रा-विज्ञान, प्राचीन कालसे हिन्दू धर्मद्वारा संसारको दिया गया अमूल्य उपहार है । ऋषि-मुनियोंद्वारा तिपादित मुद्राशास्त्रका अभ्यास भारतके अनेक योगाचार्यों और अध्ययनकर्ताआेंने किया है । उन्होंने मुद्रा-उपचारके सिद्धान्त और कार्यणाली समझकर, मानव स्वास्थ्यके लिए लाभदायक सिद्ध होनेवाली नई-नई मुद्राआेंका आविष्कार भी किया है ।

18 other products in the same category: