Reduced price! रासलीला View larger

रासलीला

New product

रासलीला

More details

15 Items

Download

INR 59

-INR 6

INR 65

Add to wishlist

Data sheet

Compilers :प.पू. डॉ. जयंत बाळाजी आठवले, कु. मधुरा भिकाजी भोसले एवं अन्य साधक
ISBN Number978-93-84461-01-0
Number Of Pages :64

More info

गोपियोंकी भक्तिको ‘आदर्श भक्ति’ की उपमा दी जाती है । मोहमायासे विरक्त गोपियोंकी व भगवान श्रीकृष्णकी रासलीला कितनी पवित्र होगी ! फिर भी कलियुगमें रासलीलाको संदेहकी दृष्टिसे देखा जाता है । इतना ही नहीं, भगवान व गोपियोंके बीच क्रीड़ा कुछ लोगोंको अधर्मयुक्त लगती है । इस ग्रंथमें रासलीलाके भावार्थ (गूढ़ार्थ), मधुराभक्तिका अर्थ, मर्म व फलश्रुति इत्यादि जानकारी दी गई है ।

8 other products in the same category: