Reduced price! उतारा एवं मानस कुदृष्टि-निवारण (वास्तु, वाहन एवं वृक्ष को कुदृष्टिसे बचानेके उपचारोंसहित) View larger

उतारा एवं मानस कुदृष्टि-निवारण (वास्तु, वाहन एवं वृक्ष को कुदृष्टिसे बचानेके उपचारोंसहित)

New product

उतारा एवं मानस कुदृष्टि-निवारण
(वास्तु, वाहन एवं वृक्ष को कुदृष्टिसे बचानेके उपचारोंसहित)

More details

11 Items

Download

Utara evam Manas kudrushti

अनुक्रमणिका एवं भूमिका पढें !

Download (80.49k)

INR 94.00

-INR 11.00

INR 105.00

INR 94.00 per 1

Add to wishlist

Data sheet

Compilers :परात्पर गुरु डॉ. जयंत बाळाजी आठवले, सद्गुरु(श्रीमती) अंजली मुकुल गाडगीळ, कु. प्रियांका विजय लोटलीकर
Number Of Pages88
ISBN Number978-93-5257-136-9

More info

   भूत-प्रेत जैसी अदृश्य शक्तियोंकी खोज पश्‍चिमी देशोंके लोगोंने कुछ समय पूर्व ही की है । आज भूतोंकी जानकारी अनेक जालस्थल (वेबसाइटस्) पर उपलब्ध है । हमारे हिन्दू पूर्वजोंने सहस्रों वर्ष पूर्व ही इनकी केवल जानकारी ही नहीं दी, अपितु उन शक्तियोंसे होनेवाले कष्टोंसे रक्षा हेतु सुगम उपचार-पद्धतियां भी बताई हैं । उनमेंसे एक पद्धति है - उतारा ।
   अतृप्त इच्छा और वासना के कारण भूलोकमें रहनेवाले हमारे ही पूर्वज या अन्य जीव इस लोकको छोड जानेके पश्‍चात हमें सताते हैं, इसपर विश्‍वास नहीं होता न ? इस सत्यको समझने हेतु इसकी कारणमीमांसा समझनी होगी ।    उतारेके लिए कौनसी वस्तुओंका प्रयोग करना चाहिए, उतारेकी पद्धतियां कौनसी हैं, उतारेके समय सूक्ष्म-स्तरपर होनेवाली प्रक्रिया, उतारा तिराहेपर क्यों रखना चाहिए, उतारेका पानीमें विसर्जन क्यों और कब करें जैसे अनेक प्रश्‍नोंकी अध्यात्मशास्त्रीय कारणमीमांसा इस ग्रन्थमें दी है ।

30 other products in the same category: