हिन्दू राष्ट्र : आक्षेप एवं खण्डन

50

आजकल हिन्दू राष्ट्र शब्द सेक्युलर भारतमें आक्षेपजनक माना जाता है । कुछ लोगोंको तो हिन्दू इस शब्दके सन्दर्भमें ही मूलभूत आक्षेप है ।
सेक्युलर विरोधकोंका आक्षेप है कि हिन्दू राष्ट्रकी कल्पना असंवैधानिक है। सामाजिक सौहार्द्रकी डींगे मारनेवालोंको हिन्दू राष्ट्र संकीर्ण अथवा कट्टरपन्थी प्रतीत होता है । अहिन्दू पन्थियोंको लगता है कि हिन्दू राष्ट्र उनकी प्रगतिमें रुकावट बनेगा । ये आक्षेप प्रातिनिधिक उदाहरण हैं, ऐसे अनेक आक्षेप हिन्दू राष्ट्र इस शब्दको घेरे हुए हैं ।

  • इन आक्षेपोंकी वास्तविकता क्या है ?
  • भारत स्वयम्भू हिन्दू राष्ट्र है क्या ? एवं
  • हिन्दू राष्ट्र-स्थापनाके लिए कार्य करनेवालोंका मूलभूत विचार क्या है ?

इन प्रश्‍नोंका उत्तर देने हेतु यह ग्रन्थ है ।

Index and/or Sample Pages

In stock