राष्ट्र एवं धर्म प्रेमी बनो !

120 108

कहते हैं, ‘बच्चे देशका भविष्य होते हैं’ ।
बच्चो, आपने यदि राष्ट्रपुरुष, संत एवं राम-कृष्ण समान देवताओंको अपना आदर्श मानकर धर्माचरण किया, नैतिक मूल्योंको अपनाकर शिक्षा ग्रहण की तथा उस शिक्षाका उपयोग राष्ट्र एवं धर्म की सेवाके लिए किया, तो निश्चित ही भारतमें हिन्दू राज्य’ (आदर्श राज्य) स्थापित होगा ।

Index and/or Sample Pages

In stock