नामजप कौनसा करें ?

85 76

Also available in: Marathi

कुछ लोग कुछ वर्ष प्रयत्नपूर्वक नामजप करनेका प्रयास करते हैं । तब भी अनुभूति न होनेपर उन्हें लगता है कि नामजप करनेमें कोई अर्थ नहीं । ऐसेमें अध्यात्मसे ही उनका विश्‍वास उठ जाता है । वे यह नहीं समझते कि उस नामजपमें दोष नहीं है, अपितु उन्होंने जो नामजप चुना है, वह उनकी आध्यात्मिक उन्नतिके लिए उचित नहीं है; इसलिए उन्हें उस नामजपकी प्रतीति नहीं होती । अध्यात्मके सिद्धान्त जितने व्यक्ति उतनी प्रकृतियां, उतने साधनामार्ग के अनुसार किसे कौनसा नामजप करना चाहिए, यह ध्यानमें रखना चाहिए । सर्वसाधारण लोगोंको यह ज्ञात हो, यह इस ग्रन्थका उद्देश्य है

Index and/or Sample Pages

In stock