Reduced price! गुरुकृपायोगानुसार साधना View larger

गुरुकृपायोगानुसार साधना

New product

Gurukrupayoganusar Sadhana - Language (Hindi)

More details

14 Items

Download

Gurukrupayog Sadhana

अनुक्रमणिका एवं भूमिका पढें !

Download (67.87k)

INR 81.00

-INR 9.00

INR 90.00

INR 81.00 per 1

Add to wishlist

Data sheet

Compilers :परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवले एवं सद्गुरू डॉ. चारुदत्त पिंगळे
Number Of Pages88
ISBN Number978-93-87508-52-1

More info

गुरुकृपायोगका अर्थ है, गुरुकृपाके माध्यमसे जीवका शिवसे जुडना । कर्मयोग, भक्तियोग तथा ज्ञानयोग, इन तीन साधनामार्गोंका त्रिवेणी संगम गुरुकृपायोग, ईश्‍वरप्राप्तिका सहज मार्ग है । गुरुकृपायोगकी विशेषता यह है कि इसमें बताई गई समष्टि साधनासे निर्गुणकी उपासना होती है, जिससे ईश्‍वरतक शीघ्र पहुंचा जा सकता है । इस ग्रंथमें साधनाके सिद्धांत, साधनाके चरण आदि के विषयमें नई और मौलिक जानकारी दी गई है । इसमें यह भी बताया गया है कि व्यष्टि और समष्टि साधनाके विविध घटक कौनसे हैं एवं इनका पालन कैसे करना चाहिए तथा समष्टि साधनाके लिए आवश्यक गुण कौनसे हैं । गुरुकृपायोगानुसार साधना करनेवाले अल्प आध्यात्मिक स्तरके साधकको भी अनुभूति शीघ्र कैसे होती है, दुर्लभ ज्ञानप्राप्ति क्यों होती है, इसके विषयमें अध्यात्मशास्त्रकी दृष्टिसे अधिक गहन एवं सूक्ष्म स्तरकी जानकारी भी ग्रंथमें दी है।

13 other products in the same category: