शिष्य

105 94

Also available in: English , Marathi
  • गुरु क्यों न ढूंढें ?
  • गुरुसे क्या मांगें ?
  • गुरुकी प्राप्त हेतु क्या करें ?
  • शिष्य बननेके लिए कौनसे गुण होने चाहिए ?
  • शिष्यका जीवन कैसा हो ?
  • अर्जुनको ‘उत्तम शिष्य’ क्यों कहा गया है ?
  • शिष्यका गुरुके प्रति भाव कैसा हो ?
  • शिष्यका गुरुसे और गुरुबंधुओंसे व्यवहार कैसा हो ?
  • स्वयं ही अपनेआपको किसीका शिष्य समझना क्यों अयोग्य है ?

इत्यादि विषयोंका विस्तृत विवरण इस ग्रंथमें दिया है ।

Index and/or Sample Pages

In stock